Home » First Post Hindi » अभी-अभी » अब द्रोणाचार्य अवॉर्ड पर हुआ विवाद, खेल मंत्रालय ने खारिज की पैरा एथलीट के कोच के नाम की सिफारिश

अब द्रोणाचार्य अवॉर्ड पर हुआ विवाद, खेल मंत्रालय ने खारिज की पैरा एथलीट के कोच के नाम की सिफारिश


अब द्रोणाचार्य अवॉर्ड पर हुआ विवाद, खेल मंत्रालय ने खारिज की पैरा एथलीट के कोच के नाम की सिफारिश

खेल पुरस्कारों की घोषणा होने पर विवाद तो हर साल होते हैं लेकिन इस बार यह विवाद थमने के नाम नहीं ले रहे रहे हैं. राजीव गांधी खेल रत्न ना दिए जाने को लेकर पैरा एथलीट दीपा मलिक का गुस्सा अभी शांत भी नहीं हुआ है कि एक और विवाद सामने आ गया है.

अब यह नया विवाद द्रोणाचार्य अवॉर्ड से जुड़ा है. दरअसल इस साल इस अवॉर्ड का सेलेक्शन करने के लिए बनी बैडमिंटन कोच पी गोपीचंद की कमेटी ने रियो पैरालंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले मरियप्पन और ब्रॉज मेडल जीतने वाले वरुण भाटी के कोच सत्य नारायण की इस अवॉर्ड के लिए सिफारिश की था. लेकिन अब खेल मंत्रालय ने अपनी आंतरिक जांच के बाद सत्यनारायण को यह अवॉर्ड ना देने का फैसला किया है.

खेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक सत्यनारायण पर दिल्ली के साकेत कोर्ट में आईपीसी की धारा 500 और 501 के तहत मानहानि का आपराधिक मुकद्मा चल रहा है. इसके अलावा वह पैरालंपिक कमेटी के साथ साथ एथलेटिक्स फेडरेशन का चुनाव भी एक साथ लड़ चुके है जो स्पोर्ट्स  के उल्लंघन के दायरे में आता है. लिहाजा मंत्रालय ने गोपीचंद की अगुआई वाली कमेटी की सिफारिश को खारिज करने का फैसला किया है.

वेटलिफ्टर संजीता चानू को मिल सकता है अर्जुन अवॉर्ड

इसके अलावा मंत्रालय ने वेटलिफ्टर संजीता चानू को भी अर्जुन अवॉर्ड देने का मन बना लिया है. तीन साल पहले ग्लास्गो कॉमनवेल्थ खेलों में मेडल जीतने वाली चानू के नाम की सिफारिश कमेटी ने नहीं की थी. इसके बाद वेटलिफ्टिंग फेडरेशन ने खेल मंत्रालय से विरोध भी दर्ज कराया .

अब खेल सचिव इंजेती श्रीनिवास ने संजीता के नाम की सिफारिश खेल मंत्री से करने का फैसला किया है और अगर खेल मंत्री विजय गोयल की मंजूरी मिलती है तो उन्हें भी 29 अगस्त को खेल दिवस के दिन राष्ट्रपति के हाथों अर्जुन अवॉर्ड मिल सकता है.

हालांकि अवॉर्ड कमेटी एक सदस्य और पत्रकार श्रीनिवास कन्नन ने ट्वीट करके संजीता को अर्जुन अवॉर्ड देने की सिफारिश पर अपनी असहमति दर्ज कराई है.

 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*